Followers

Google+ Followers

Wednesday, 19 July 2017

देखा है जिन्दगी को.......

देखा है जिन्दगी को कुछ इस करीब से,
चेहरे तमाम लगने लगे हैं अजीब से.............
नितिश श्रीवास्तव
उ०प्र०, इलाहाबाद

No comments:

Post a Comment